तीन फीट के गणेश को मिला मेडिकल कॉलेज में दाखिला, गिनीज बुक में दर्ज होगा नाम

 

गणेश को NEET परीक्षा में 223 अंक मिलने के बाद भी उन्हें कम हाइट की वजह से मेडिकल कॉलेज में दाखिला नहीं दिया गया था ​|

 

लंबी कानूनी लड़ाई लड़ चुके तीन फीट के गणेश बिठ्ठलभाई बारैया को गुरुवार को एमबीबीएस में दाखिला मिल गया. भावनगर के मेडिकल कॉलेज में गुरुवार को गणेश का पहला दिन था. गणेश को प्रथम वर्ष के कॉन्फ्रेंस हॉल में पहली पंक्ति में स्थान दिया गया. अपने पहले दिन के अनुभव के बारे में बताते हुए गणेश ने कहा कि यह शानदार था. सभी साथियों और डॉक्टरों ने मेरा गर्मजोशी से स्वागत किया.
 


डॉ. हेमंत मेहता ने कहा कि हम इस मेधावी छात्र का तहेदिल से स्वागत करते हैं. एमबीबीएस करने के बाद गणेश बारैया विश्व के पहले ऐसे इंसान होंगे, जिन्हें मात्र तीन फीट की कदकाठी के साथ यह उपाधि दी जाएगी. इस उपाधि के साथ ही उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज हो जाएगा.

 

गौरतलब है कि गणेश को NEET परीक्षा में 223 अंक मिलने के बाद भी उन्हें मेडिकल कॉलेज में दाखिला नहीं दिया गया था. वजह थी उनकी हाइट. साल 2018 में उनकी उम्र 17 साल थी और उनकी हाइट मात्र 3 फीट जबकि वजन 14 किलोग्राम था. गणेश की ऐसी कदकाठी को देखकर उन्हें किसी भी मेडिकल कॉलेज में दाखिला नहीं दिया गया. गणेश ने इतना कुछ होने के बाद भी हार नहीं मानी और कानूनी लड़ाई लड़ी. बाद में सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को उन्हें मेडिकल कॉलेज में दाखिला देने का आदेश दिया है.


 

बेहद कम लंबाई और महज 15 किलो वजन

सामान्य से बेहद कम लंबाई और महज 15 किलो वजन वाले 18 साल के गणेश को देखकर कोई भी उसे बच्चा समझ लेता था और शायद यही वजह थी की साल 2018 की नीट परीक्षा में 223 अंक हासिल करने के बाद भी मेडिकल कॉलेज ने उन्हें दाखिला देने से इनकार कर दिया था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में गणेश के पक्ष में फैसला सुनाते हुए कहा था कि विकलांगता कि वजह से उन्हें अपना करियर बनाने से नहीं रोका जा सकता है।

पहले हाई कोर्ट फिर सुप्रीम कोर्ट

हालांकि गणेश को इस लड़ाई को जीतने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कद-काठी की वजह से कॉलेज के एडमिशन देने से इनकार करने पर पहले उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका लगाई, जब वहां से फैसला उनके पक्ष में नहीं आया तो उन्होंने हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का मन बनाया। आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने गणेश की दलीलों को सही मानते हुए उनके पक्ष में फैसला दिया।

जीत की खुशी का किया इजहार

अब केस जीतने के बाद गुजरात के भावनगर के सरकारी मेडिकल कॉलेज में गणेश को एडमिशन मिलेगा। गणेश इस जीत से बेहद उत्साहित हैं और उन्होंने कहा, मैं बहुत खुश हूं, मुझे मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिलेगा जिसके बाद मैं अपना सपना पूरा कर सकूंगा। उन्होंने कहा कि, वो डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहते हैं। गणेश भावनगर के ही निवासी भी हैं।

 

स्रोत- NEWS 18

 

 

 

Important Link:-

 

​Entrance Exam:-

 

 

Counselling:-

 

 

BIT Mesra Main Campus- Related News :-

 

BIT Mesra - OBC quota Updates

  1. BIT Mesra OBC Quota counselling 2019 notifications 
  2. BIT Mesra OBC Quota Merit list
  3. BIT Mesra OBC quota-Counselling Guidelines

 

 

 

BIT Mesra Extension Centre Updates-Patna, Deoghar and Jaipur Campus

 

 

 

CUT OFF

ALL IITs Cut off  - Click Here

All NITs Cut off  - Click Here

All IIITs Cut off  - Click Here

All GFTIs Cut off  - Click Here

 

 

 
Enroll for career Counselling Program - Click here

 


 

 

Comment

Our Products

JEE Main Multi State Rank Counselling
₹ 5000
SMS Alert
₹ 200
General Psychological Counselling
₹ 5000
FOUNDATION PRE COUNSELLING
₹ 2500
Get Free Exam/Admission
Notification

News & Notification