साइकोग्राफिक सोसाइटी के स्थापना दिवस पर सिटी एस पी के साथ बच्चों ने की सीधी बात 
 
क्लब रोड स्थित साइकोग्राफिक सोसाइटी के १४ वे स्थापना दिवस के अवसर पर 14 october को  आयोजित कार्यक्रम में "बाल  मंच " का आयोजन हुआ जिसमे सिटी एस पी ने स्कूली बच्चों के साथ सीधा संवाद किया 
 
 
सिटी एस पी ने बच्चों को तीन बात पर जोर देने को कहा  - अपनी क्षमता अनुसार लक्ष्य , लक्ष्य पर आत्मविस्वास और शिक्षकों को जज करने की बजाय उनसे क्या ले सकते हैं इस पर ध्यान 
 
 
कार्यक्रम की अध्यक्षता सोसाइटी के निदेशक विकास कुमार ने की। 
विशिष्ट अतिथि कलकत्ता से सुमित सिंह एवं श्रीमती रजनी शंकर जे थीं।   अनहत वत्सल , तनुश्री , चिंकी सिंह, यश राज , आयुष  सहित कई बच्चे सम्मिलित थे।
 
 
विकास कुमार ने सिटी एस पी को एक कविता उपहार में दिया जो एक स्टूडेंट के रूप में उन्होंने अपने  फिजिक्स के प्रिय शिक्षक Atil Arora के लिए लिखा था 
श्री सुजीत झा, श्री शशी प्रकाश ,श्री अभिषेक रॉय , श्रीमती नूतन रश्मि, श्रीमती सी के सिंह , श्रीमती रूबी झा सहित कई अभिवावक उपस्थित थे 
 
बच्चों ने भी एस पी सर से अपने सवाल पूछे जिसका बाकायदा उत्तर उन्होंने दिया और साथ में केक भी काटा 
 
जे वी एम् श्यामली std 5 की तनुश्री ने पूछा-  आई पी एस बनना मेरा भी लक्ष्य है -मुझे इसके लिए क्या करना चाहिए
 
 
आयुष कुमार राय - डी पी एस -रांची -std ६ ने पूछा - मैं डॉक्टर बनना चाहता हूँ -इसके लिए मुझे क्या करना होगा  
 
कैराली के यश राज ने पूछा- आप आई पी एस बनना ही क्यों सोचा -जबकि आप आई आई टी में पढ़े थे  
 
अमृतानंद रॉय - डी पी एस -रांची-std ३ ने पूछा - lawyer बनना मेरा लक्ष्य है -इसके बारे में कुछ बतायें 
 
कैराली की शमीना ने MBBS के बारे में तो ऑक्सफ़ोर्ड स्कूल की चिंकी ने पढाई के गुर के बारे में पूछा 
 
अंतिम सवाल डी पी एस -रांची-std ३ ने पूछा - सर - अभी तक आपने कितने क्रिमिनल्स पकड़े हैं 
Comment

Our Products

ENGINEERING
₹ 5000
SMS Alert
₹ 200
Seminar and Workshops
₹ 25000
Career Aptitude Test
₹ 2500
Get Free Exam/Admission
Notification

News & Notification